Connect with us

Latest News Today, Breaking News & Top News Headlines

मोकामा में जल्द ही बनेगा ट्रामा सेंटर!

trauma center

Bihar

मोकामा में जल्द ही बनेगा ट्रामा सेंटर!

अमित कुमार.

पटना। मोकामावासियों की बहुप्रतीक्षित माँग पर बिहार सरकार के सूचना एवं जनसंपर्क मंत्री नीरज कुमार एवं वर्तमान मुँगेर सांसद राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह के अथक प्रयासों से नियमों को शिथिल कर मोकामा रेफरल अस्पताल परिसर में ट्रामा सेंटर निर्माण की मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा 26 फरवरी 2019 को मोकामा में हुए सरकारी कार्यक्रम में की गई घोषणा अब सरजमीं पर उतरती नजर आ रही है, मानक के अनुरूप निविदा प्रक्रियाओं का पालन करते हुए इसके लिए दिनांक 04.03.2020 को संवेदक से विभागीय अनुबंध किया जा चुका है. ट्रामा सेंटर के भवन निर्माण, आतंरिक-वाह्य विद्युतीकरण, सेनिटेशन, मेडिकल गैस पाईप लाईन, फर्नीचर आपूर्ति सहित कुल अनुबंधित राशि 1,06,02,611.10 रुपए (एक करोड़ छह लाख दो हजार छह सौ ग्यारह रुपए दस पैसा) है।

लोकसभा चुनाव 2019 की घोषणा से पूर्व ही बिहार मंत्रिपरिषद द्वारा मोकामा में निर्मित होने वाले ट्रामा सेंटर निर्माण हेतु डॉक्टरों सहित कुल 71 पद सृजन करते हुए स्वीकृति प्रदान की गई थी परंतु विविध कारणों से अब तक निर्माण कार्य आरंभ नहीं हो सका था.

जापान के PM ने दिया घर से न निकलने का संदेश, सोशल मीडिया पर आई गुस्से से भरी प्रतिक्रियाएं

bihar

मोकामा कभी उत्तर एवं मध्य बिहार के चिकित्सा का मुख्य केंद्र हुआ करता था परंतु 90 के दशक में यहाँ पनपे गैंगवार ने बिहार के तत्कालीन सबसे बड़े चिकित्सा संस्थान नाजरथ हॉस्पिटल को अपनी जद में ले लिया और एक समय नाजरथ तालाबंदी का शिकार हो गया, मोकामा की स्थिति इस कदर दुष्कर है कि आज की तारीख में भी नाजरथ अस्पताल में जारी चुनिंदा सेवाओं के अलावा यहाँ के नागरिकों के पास कोई विकल्प उपलब्ध नहीं है, मोकामा आस पास क्षेत्र के नागरिक किसी भी इमरजेंसी के लिए बेगूसराय और पटना पर निर्भर हैं, जिस वजह से प्रति वर्ष दर्जनों की तादाद में लोगों को असमय जान गंवाना पड़ता है।

ट्रामा सेंटर निर्माण के अलावा मोकामा प्रखंड के ही मराँची ग्राम में संचालित अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के भवन निर्माण के लिए भी संवेदक से अनुबंध हो चुका है. संवेदकों को जारी विभागीय आदेश में लॉक डाउन की समाप्ति पश्चात निर्माण कार्य आरंभ करने का आदेश साफ निर्दिष्ट है, उम्मीद है मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की कभी कर्मभूमि रहा मोकामा क्षेत्र चिकित्सा मानकों में पुनः अपना पुराना स्वरूप वापस पाएगा.

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

More in Bihar

To Top