Connect with us

Latest News Today, Breaking News & Top News Headlines

रघुवंश प्रसाद सिंह की तबीयत बिगड़ी, जीवनरक्षक प्रणाली पर रखा गया

Bihar

रघुवंश प्रसाद सिंह की तबीयत बिगड़ी, जीवनरक्षक प्रणाली पर रखा गया

लालू प्रसाद के राष्ट्रीय जनता दल (राजद) से इस्तीफा देकर बिहार की राजनीति में हलचल पैदा करने वाले पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह गंभीर रूप से बीमार हो गये हैं और उन्हें जीवनरक्षक प्रणाली पर रखा गया है। उनके एक सहयोगी ने शनिवार को यह जानकारी दी। रघुवंश प्रसाद सिंह ने बृहस्पतिवार को राजद की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दिया था और उसके बाद प्रसाद के चिर प्रतिद्वंद्वी एवं बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को खुला पत्र लिखा था जिससे उनके भावी कदमों को लेकर अटकलों का बाजार गर्म हो गया। कोविड-19 संक्रमण से उबरने के बाद उन्हें स्वास्थ्य संबंधी परेशानियां होने पर करीब एक सप्ताह पहले दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थाान(एम्स) में भर्ती कराया गया था। अस्पताल में उनके साथ रह रहे उनके एक सहयोगी ने फोन पर यहां पीटीआई-से कहा, ‘‘ सिंह साहिब की स्थिति पिछली रात बहुत बिगड़ गयी। रात 11 बजकर 56 मिनट पर उन्हें जीवन रक्षक प्रणाली पर रखा गया। हम उनके कल्याण के लिए प्रार्थना कर रहे हैं।’’

कंगना से सोनिया से किया सवाल, महाराष्ट्र सरकार ने मेरे साथ जो किया, क्या आपको उससे गुस्सा नहीं आता

अच्छे और बुरे दोनों ही दौर में राजद सुप्रीमो के साथ चट्टान की तरह खड़े रहने वाले रघुवंश प्रसाद सिंह की कुछ महीने पहले पार्टी से तब अनबन हो गयी जब, चर्चा होने लगी कि माफिया डॉन से नेता बने एवं वैशाली लोकसभा क्षेत्र में उनके प्रतिद्वंद्वी रमा सिंह के चलते उन्हें पार्टी के उपाध्यक्ष पद से इस्तीफा देना पड़ा। मनमोहन सिंह सरकार में प्रसाद के मंत्रिमंडल सहयोगी रहे रघुवंश प्रसाद सिंह ने रमा सिंह को राजद में नहीं आने दिया था। उपाध्याक्ष पद से इस्तीफा देते समय उन्होंने राजद की प्राथमिक सदस्यता तो नहीं छोड़ी लेकिन वह पार्टी के रोजमर्रा के कामकाज से दूर रहने लगे। इसके लिए उनके खराब स्वास्थ्य को कारण बताया गया। बृहस्पतिवार को प्रसाद को भेजे हस्तलिखित पत्र में रघुवंश प्रसाद सिंह ने पार्टी छोड़ने की घोषणा की और उनका यह पत्र सोशल मीडिया में आ गया। उसके अगले ही दिन रघुवंश प्रसाद सिंह ने अस्पताल से दूसरा पत्र लेकिन इस बार यह नीतीश कुमार को लिखा गया। इसे उनके मुख्यमंत्री के करीब जाने के उनके प्रयास के रूप में देखा गया। नीतीश कुमार सत्तारूढ़ जनता दल यूनाइटेड के प्रमुख हैं।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

More in Bihar

To Top